12वीं फेल सख्श ने बना डाली 1 लाख करोड़ की कंपनी, Divis Lab Success Story

हम आपके लिए एक ओर प्रेणना दायक स्टार्टअप की कहानी लेकर आए हैं,हम एक ऐसे सख्श की बात कर रह हैं जो अपनी 12वीं क्लास में दो बार फेल हुए थे। 

हम बात कर रहे हैं मुरली डीवी की जो कि Divis Labs कंपनी के फाउंडर हैं और आज इनका ये कंपनी लगभग 1 लाख करोड़ रुपए की बन चुकी हैं। 

हम आपको Divis Lab Success Story के बारे में बताने वाले हैं कि कैसे मुरली डीवी ने ये करोड़ो की कंपनी बनाई हैं। 

Murli Divi भारत के आंध्र प्रदेश राज्य से तालुक रखते हैं, इनका जन्म एक गरीब परिवार में हुआ था। 

अपने बचपन में मुरली पढ़ाई लिखाई में ज्यादा अच्छे नहीं थे और यही कारण था कि ये अपनी 12वीं क्लास में दो बार फेल हुए थे।  

उन्होंने कभी भी हार नही मानी और अपनी पढ़ाई जारी रखी जिसके कारण महज 25 साल की उम्र में मुरली डीवी साल 1976 में अमेरिका चले गए।

मुरली जब अमेरिका जाने के लिए रवाना हुए थे तब उनके पास सिर्फ जेब में 500 रुपए ही थे। पर आज मुरली करोड़ो के मालिक बन चुके हैं। 

वहां अमेरिका में मुरली नौकरी करके हर साल लगभग 65,000 हजार डॉलर कमाते थे जो की भारत के 54 लाख रुपए बनते हैं।

कुछ साल काम करने के बाद मुरली डीवी ने भारत वापस आने का प्लान फैसला किया, जब इन्होंने ये चीज प्लान की उस समय इनके पास सिर्फ 33 लाख रुपए थे। 

यहां भारत में लौटने के बाद साल 1984 में मुरली ने फार्मा सेक्टर में एक कंपनी के साथ काम किया। जहां काम करने के बाद साल 1990 में मुरली ने Divis Lab की शुरुवात की 

आज के समय में Divis Lab फार्मा सेक्टर में API बनाने वाले तीन बड़ी कंपनियों में से एक हैं। इस समय बिज़नेस की दुनिया में इस कंपनी की वैल्यूएशन लगभग 1 लाख करोड़ रुपए हैं। 

सिर्फ वड़ा पाव बेच इस सख्श ने बना डाली करोड़ो की कंपनी, पढ़े पूरी कहानी!